कांग्रेस को बड़ा झटका , पंजाब कांग्रेस सचिव जसपाल सरपंच साथियों समेत स. सुखबीर सिंह बादल की मौजूदगी में अकाली दल में शामिल हो गए

जनमत संग्रह का नाटक कर केजरीवाल खुद पंजाब के मुख्यमंत्री बनना चाहते हैंलोगों की राय पूछने का ड्रामा कर रहासरदार सुखबीर सिंह बादल

जीरकपुर। पंजाब काग्रेस पार्टी को उस समय बहुत बड़ा झटका लगा, जब उसके जीरकपुर से सचिव, एमसी और पूर्व सरपंच जसपाल सिंह अपने समर्थकों के साथ पार्टी अध्यक्ष स. सुखबीर सिंह बादल की मौजूदगी में अकाली दल में शामिल हो गए।

इस अवसर पर एक प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए अकाली दल अध्यक्ष ने  जसपाल सिंह को पार्टी उपाध्यक्ष बनाने की घोषणा की तथा जिसके साथ पार्टी को बहुत बड़ा बढ़ावा मिला तथा कहा कि उन्हे पार्टी के लिए चुनाव कार्य भी सौंपा जाएगा।

उन्होने कहा कि अकाली दल ही एकमात्र ऐसी पार्टी है जो लोगों की आवाज है तथा लोगों के अधिकारों  के लिए लड़ती है , जबकि दूसरे दलों के फैसले दिल्ली में लिए जाते हैं। उन्होने कहा कि भाजपा आज पंजाब में जो कर रही है, वहीं पश्चिम बंगाल में कर रही थी, लेकिन वहां के राज्य के मतदाताओं ने इस राष्ट्रीय पार्टी पर अपनी क्षेत्रीय पार्टी टी एम सी को चुना है। उन्होने कहा कि पंजाबी इसे राज्य में दोहराएंगें और भाजपा को राज्य से बाहर कर देंगें।

सरदार बादल ने कहा कि पंजाब में तीन पार्टियों से हमले हो रहे हैं, जिन्होने पिछले दिनों पंजाब विरोधी फैसले लिए थे। उन्होने कहा कि आप संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की तरह सुप्रीम कोर्ट में राज्य के थर्मल प्लांटों को बंद करने की मांग की और पंजाब नदी जल से एसवाईएल नहर से हिस्से की मांग की। उन्होने कहा कि भाजपा ने तीनों खेती कानून बनाए जिन्हे देश के किसानों द्वारा उनके खिलाफ आंदोलन के बाद उन्हे निरस्त करना पड़ा । उन्होने कहा कि कांग्रेस ने भी पंजाब को लूटा। उन्होने कहा कि इन सभी दलों ने पंजाब को लूटने के एकमात्र एजेंडें के साथ लोगों से झूठे वादे किए और यह केवल अकाली दल ही है जो लोगों की सेवा करती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *